Showing 22 Result(s)

Lalita Mata

आरती मां ललिता की (जय शरणं वरणं नमो नम:) श्री मातेश्वरी जय त्रिपुरेश्वरी! राजेश्वरी जय नमो नम:!! करुणामयी सकल अघ हारिणी! अमृत वर्षिणी नमो नम:!! जय शरणं वरणं नमो नम: श्री मातेश्वरी जय त्रिपुरेश्वरी…! अशुभ विनाशिनी, सब सुखदायिनी! खलदल नाशिनी नमो नम:!! भंडासुर वध कारिणी जय मां! करुणा कलिते नमो नम:!! जय शरणं वरणं नमो …

Bhairav Aarti

भगवान श्री कालभैरव की आरती जय भैरव देवा, प्रभु जय भैंरव देवा। जय काली और गौरा देवी कृत सेवा।। तुम्हीं पाप उद्धारक दुख सिंधु तारक। भक्तों के सुख कारक भीषण वपु धारक।। वाहन शवन विराजत कर त्रिशूल धारी। महिमा अमिट तुम्हारी जय जय भयकारी।। तुम बिन देवा सेवा सफल नहीं होंवे। चौमुख दीपक दर्शन दुख …

Parvati Mata Aarti

पार्वती माता आरती जय पार्वती माता जय पार्वती माता ! ब्रह्मा सनातन देवी शुभ फल का दाता !! जय पार्वती माता ! अरीफ पद्म विष्णिका जे सावरकर ! जजी जी जगदाम्बा, हरिहर गाने गाते हैं। !! जय पार्वती माता ! शेर में एक वाहन, एक हेलमेट और इतने पर है। ! देव भाऊ जास गावत, …

Tulasi mata Aarti

तुलसी माता आरती जय जय तुलसी माता, सबकी सुखदाता वर माता ! सब यूगो के उपर, सब रोगो के उपर, ! रूज से रक्षा कर भाव त्रिटा ! जय जय तुलसी माता !! बहू पुत्री है श्यामा, सुर वल्ली है ग्रैमी,! विष्णु प्रिया जो टुंबो सेव, तो नार तार जता ! जय जय तुलसी माता …

Maa Durga Aarti

माँ दुर्गा आरती अम्बे तू है जगदम्बे काली, जय दुर्गे खप्पर वाली, तेरे ही गुण गावें भारती, ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती। तेरे भक्त जनो पर माता भीर पड़ी है भारी। दानव दल पर टूट पडो माँ करके सिंह सवारी॥ सौ-सौ सिहों से बलशाली, है अष्ट भुजाओं वाली, दुष्टों को तू ही ललकारती। …

Ekadashi Mata Aarti

एकदशी माता आरती ॐ जय एकादशी, जय एकादशी, जय एकादशी माता। विष्णु पूजा व्रत को धारण कर, शक्ति मुक्ति पाता॥ ॐ जय एकादशी…॥ तेरे नाम गिनाऊं देवी, भक्ति प्रदान करनी। गण गौरव की देनी माता, शास्त्रों में वरनी॥ ॐ जय एकादशी…॥ मार्गशीर्ष के कृष्णपक्ष की उत्पन्ना, विश्वतारनी जन्मी। शुक्ल पक्ष में हुई मोक्षदा, मुक्तिदाता बन …

Ahoi Mata Aarti

अहोई माता आरती जय अहोई माता जय अहई माता तुम्को निस्सिन धीयावत हरि विष्णु धाता जय अहई माता …। ब्राह्मण रुद्रानी कमला तू है वह है जग दट्टा। सूर्य चंद्रमा ध्यावद नारद ऋषि गट्टा जय अहई माता …। माता रूप निरंजन सुख संदत्त दत्त जो कोई तुम्हीं ढावत् निट मंगल पट्टा। जय अहई माता …। …

Saraswati Maa Aarti

सरस्वती माँ आरती जय सरस्वती माता, माया जय सरस्वती माता | सदगुण वैभव शालिनी, त्रिभुवन व्यखाता। जय सरस्वती माता || चंद्रवदानी पद्मासिनी, दियंती मंगलाकरी | सोह शुधन हंस सावरी, अतला तेजदात्री || जय सरस्वती माता || बायेन काड़ा में वीना, दयान कर माला | शिशा मुकुतोत मनी Sohe, पर्व मोतीयाना माला | जय सरस्वती माता …

Vaishno Devi Aarti

वैष्णो देवी आरती जय वैष्णवी माता, मैया जय वैष्णवी माता ! हाथ जोड़ तेरे आगे, आती मी गाता !! शीश पे छतर विराजे, मूरतिया प्यारी ! गंगा बहती चरन, ज्योति जगे नयरी!! ब्रह्मा वेद पढ़े नित द्वारा, शंकर ध्यान धरे। ! सेवक चन्द्र दुआलावत, नारद नृत्य करो !! खूबसूरत गफ़ा तुम्हारी, मन को अति भावे …

Ganga Mata Aarti

गंगा माता आरती ॐ जय गंगे माता, मैया जय गंगे माता। जो नर तुमको ध्याता, मनवांछित फल पाता॥ ॐ जय गंगे माता॥ चन्द्र-सी ज्योति तुम्हारी, जल निर्मल आता। शरण पड़े जो तेरी, सो नर तर जाता॥ ॐ जय गंगे माता॥ पुत्र सगर के तारे, सब जग को ज्ञाता। कृपा दृष्टि हो तुम्हारी, त्रिभुवन सुख दाता॥ …

Mata Ambe Aarti

माता अंबे आरती जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी। तुमको निशिदिन ध्यावत, हरि ब्रह्मा शिवरी॥ जय अम्बे गौरी|| माँग सिंदूर विराजत, टीको मृगमद को। उज्जवल से दो‌उ नैना, चन्द्रवदन नीको॥ जय अम्बे गौरी|| कनक समान कलेवर, रक्ताम्बर राजै। रक्तपुष्प गल माला, कण्ठन पर साजै॥ जय अम्बे गौरी|| केहरि वाहन राजत, खड्ग खप्परधारी। सुर-नर-मुनि-जन सेवत, …

Lakshmi Mata Aarti

लक्ष्मी माता आरती ओम जय लक्ष्मी माता, माया जय लक्ष्मी माता ! तुमको निशिदिन सेवा, हरि विष्णु विधाता ! ओम जय लक्ष्मी माता !! उमा राम ब्रह्मानी, तुम हाय जग-माता ! सूर्य-चंद्रमा धीयावत नारद ऋषि गटा ! ओम जय लक्ष्मी माता !! दुर्गा रूप निरंजनी, सुख संप्रती डेटा ! जो कोई तुमक्यो ध्यान, रिधि-सिद्धी धन …